शनिवार, 15 जनवरी 2011


धारी हुई गुण रूप अपार है

शास्त्रीय नायिका धीरा है हिन्दी ।

भारत माँ की अनामिका की

मुंदरी में जड़ी यह हीरा है हिन्दी ।

साहस धैर्य समेटे हुए यह

आयुषी है बलबीरा है हिन्दी ।

राधा कभी अनुराधा कभी

कभी कृष्ण दिवानी ये मीरा है हिन्दी ॥

1 टिप्पणी:

  1. भारत माँ की अनामिका की

    मुंदरी में जड़ी यह हीरा है हिन्दी ।


    वाह ...कहाँ से लाते हैं इतने सुंदर अलंकार .....!!

    उत्तर देंहटाएं